Wednesday, April 30, 2008

दुनिया के दस बड़े आतंकी


धनकुबेरों की टाप टेन लिस्टिंग करनेवाली फोर्ब्स पत्रिका ने अब दुनिया के दस बड़े आतंकियों की लिस्ट जारी की है. अब तक फोर्ब्स की सूची में मुकेश अंबानी के होने पर अगर गर्व कर सकते हैं तो इस सूची में भी दाऊद इब्राहिम ने भारत का नाम रोशन? किया है.

फोर्ब्स का दावा है कि टाप टेन लिस्ट तैयार करते समय उसने दुनिया की कई सारी एजंसियों से मदद ली है.आतंकियों की टाप टेन लिस्ट तैयार करने में पत्रिका ने कई सारे पहलुओं का ध्यान रखा है. अपहरण, कब्जा, स्मगलिंग, उगाही और वैश्कि स्तर पर हत्याओं को मुख्यरूप से आधार बनाया गया है. पत्रिका कहती है कि दुनियाभर में आतंकवादियों सामूहिक रूप से काम करने की भावना पनप रही है जिसके कारण हत्या करनेवाले आतंकियों और दूसरे प्रकार के अपराधियों में एक प्रकार का मजबूत नेक्सस बनता जा रहा है.

1. पहले नंबर पर ओसामा बिन लादेन के अलावा कोई हो भी नहीं सकता है. पत्रिका का अंदेशा है कि ओसामा बिन लादेन पाकिस्तान के वजीरिस्तान में छिपा हुआ हो सकता है. अमेरिकी सरकार ने ओसामा के सिर 25 मिलियन डालर का इनाम रखा है. जाहिर है वही दुनिया का सबसे बड़े आतंकी का खिताब पा सकता है.

2. दूसरे नंबर पर है मैक्सिको का ड्रग तस्कर जैक्वीन गुजमान. गुजमान कोलंबिया ड्रग नेटवर्क की मजबूत कड़ी है और यूएस में कोकीन सप्लाई का उसका सबसे बड़ा नेटवर्क है. पुलिस उसे पकड़ने के लिए बेताब है और उस पर 5 मिलियन डालर का इनाम है.

3. तीसरे नंबर पर है उजबेकिस्तान का अलमिजान. अलमिजान हथियारों का सौदागर है. इसके अलावा वह ड्रग तस्करी तथा मैच फिक्सिंग का भी कारोबार करता है. उस पर आरोप है कि वह ओलंपिक खेलों को भी फिक्स करवाता है. अमरीकी प्रशासन उसे पकड़ने को बेताब लेकिन संभावना है कि वह रूस की सरहदों में सुरक्षित है.

4. चौथे नंबर पर इंडिया मोस्ट वांटेड दाऊद इब्राहिम. पत्रिका का कहना है कि दाऊद भी पाकिस्तान में छिपा हो सकता है. पत्रिका का कहना है कि वह अलकायदा नेटवर्क का अहम हिस्सा हो सकता है. पत्रिका यह भी संदेह व्यक्त करती है कि उसका आईएसआई से गहरे ताल्लुकात हो सकते हैं.

5. पांचवे नंबर पर है इटली का मेसिना डेनारो. पत्रिका का दावा है कि यह बहुत ही ताकतवर और संगठित आतंकी संगठन का संचालन करता है. इटली में आतंकियों के खिलाफ चले सरकारी अभियान को रोकने के लिए डेनारो ने भारी संख्या में बम विस्फोटों को अंजाम दिया था जिसे कोसा नोस्त्रा कैम्पेन कहा गया था.

6.1994 में 100 दिन तक चले मारकाट में आठ लाख रवांडावासियों के कत्ल के लिए जिम्मेदार फेलिसियन काबुगा अफ्रीका का मोस्ट वांटेड अपराधी है. काबुगा हुतू संप्रदाय का मुखिया है और उसने रवांडा की तुत्सी आबादी के खिलाफ जमकर कत्लेआम करवाया. उसने अपने धन और रेडियों स्टेशन का इस्तेमाल करने के अलावा तुत्सी समुदाय के खात्मे के लिए हथियारों और अन्य सैनिक साजो सामान की आपूर्ति करवाई.

7.पेड्रो एंटोनियो मारीन सातवें नंबर पर है. वह कोलंबिया एफएआरसी का नेता है जिसकी स्थापना 1960 में की गयी. यह वामपंथी झुकाव वाली संस्था है जो फिदेल कास्त्रो को अपना नेता मानती है. इस वक्त पेड्रो पर अपहरण, वसूली और ड्रग सप्लाई के कई मामले चल रहे हैं. अमरीकी सुरक्षा विभाग का कहना है कि असल में एफएआरसी आज दुनिया के सबसे बड़े कोकीन बाजार पर कब्जा किये हुए है. दुनिया में कुल कोकीन सप्लाई के आधे पर इसी संस्था का नियंत्रण है. अमरीकी सरकार ने 5 मिलियन डालर का इनाम रखा है.

8. जोसेफ कोने लार्ड रेजिस्टेन्स आर्मी (एलआरए) का मुखिया है और युगांडा में अपनी सरकार स्थापित करने के लिए नृशंत हत्याओं का दोषी है. एलआरए के कारण अब तक 20 लाख लोग विस्थापित हुए हैं और बच्चों का अपहरण सबसे ज्यादा एलआरए ने नाम दर्ज है. ऐसा समझा जाता है कि 60 हजार बच्चों का अपहरण कर उन्हें बचपन से ही गुरिल्ला युद्ध के लिए तैयार करने की ट्रेनिंग दी जा रही है. कोने पर आरोप है कि वह बच्चों से जबरन लूटपाट और हत्याएं कराने के साथ ही उनका यौन शोषण भी करवाता है. बच्चों को ट्रेनिंग के दौरान अपने ही मां-बाप की हत्या करने के लिए उकसाया जाता है. कोने पर 33 आपराधिक मामले दर्ज है.

9. जेम्स ह्विटी बल्गर बोस्टन में रहनेवाला अमेरिक आईरिश नागरिक है और उसके ऊपर साउथ बोस्टन में अवैध ड्रग कारोबार और उगाही का आरोप है. लगभग एक दशक तक एफबीआई ने कई हत्याओं के आरोप में बल्गर का पीछा किया लेकिन नाकाम रही. एफबीआई का दावा है कि वह अमरीका और यूरोप में अपना नेटवर्क चला रहा है. आशंका यह भी है कि वह आईरिश आर्मी के साथ मिला हुआ है. वैसे बल्गर टाप टेन आतंकियों में सबसे बूढे हैं उनकी उम्र 78 साल है.

10. ओमिद तहलवी या फिर नीनो 37 साल का है और टाप टेन आतंकियों में सबसे कम उम्र नीनो की ही है. नीनो पर आरोप है कि वह व्यावसायिक धोखाधड़ी में माहिर है और यूरोप, मध्यपूर्व और अमेरिका के लोगों को अपना शिकार बनाता है. पिछले नवंबर में वह पकड़ा गया था लेकिन अति सुरक्षित ब्रिटिश कोलंबिया जेल से वह फरार हो गया.

1 comment:

vikas said...

Firstly, I congretulate you for creating your blogs. I read "Dunia ke Das Dade Atanki", it's nice.If you make the design of RanchiHalla more catchy, that will be more effective. Hoping that you will give more informative, exclusive news.

All the best.

vikas