Saturday, February 20, 2010

गाफिल की ग़ज़ल.....??


मैं भूत बोल रहा हूँ..........!!
()

अरे चला भी जा तू,मुझे ना तबाह कर !!

मुझे देख इस कदर,तू यूँ ना हंसा कर !!

कोई टिक ना सका,मेरे रस्ते में आकर !!

वफ़ा यहाँ फालतू है,जफा कर जफा कर !!

तू प्यार चाहता है ??,मेरे पास बैठा कर !!

तुझे सुकून मिलेगा,इधर को आया कर !!

दुनिया बदल रही है,गाफिल तू भी बदल !!

(२)

प्यार की इन्तेहाँ उरियां हो

जैसे इक नदिया दरिया हो !!

इक पल में फुर्र हो जाती है

उम्र गोया उड़ती चिडिया हो !!

तुझसे क्या-क्या मांगता हूँ

तेरे आगे अल्ला गिरिया हो !!

मैं तो चाहता ही हूँ कि मुझसे

हर इक ही इंसान बढ़िया हो !!

सुख-दुःख गोया ऐसे भईया

गले में हीरों की लड़ियाँ हों !!

तुमसे कहना चाहता हूँ ये मैं

तुम बढ़िया हो बस बढ़िया हो !!

इतना बढ़िया जी जाऊं"गाफिल"

अल्ला भी कहे कि बढ़िया हो !!




5 comments:

Suman said...

nice

健康保寶 said...

If you can not be kind, at least have the decency to be vague.............................................

Udan Tashtari said...

बहुत उम्दा दोनों.

Anonymous said...

I just signed up here.

Do you like watching TV on your PC?

View popular television series including Gossip Girl, Weeds, Lost and plenty more!

[url=http://www.channelblender.com/tv/tv-shows]Free Full Length Movies[/url]

psingh said...

बहुत ही सुन्दर पोस्ट
आभर .............................